इमरान खान का पलटवार- जनरल जिया उल हक के जूते पॉलिश करके पॉलिटिक्स में आए थे नवाज शरीफ


इमरान खान ने कहा कि नवाज ने पॉलिटिक्स में आने के लिए जनरल जिया का जूता पॉलिश किया है

इमरान खान ने कहा कि नवाज ने पॉलिटिक्स में आने के लिए जनरल जिया का जूता पॉलिश किया है

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ (Pakistan Ex PM Nawaz Sharif) की टिप्पणी का पलटवार करते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान PM Imran Khan) ने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति जनरल जिया उल हक के जूते पॉलिश करके नवाज शरीफ राजनीति में आए हैं.

  • News18Hindi

  • Final Up to date:
    October 18, 2020, 12:25 PM IST

इस्लामाबाद. पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ (Pakistan Ex. Prime Minister Nawaz Sharif) ने लंदन से वीडियो लिंक के जरिये पाकिस्तान में एक रैली को संबोधित किया. इस भाषण में नवाज शरीफ ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Pakistan PM Imran Khan) और सेना प्रमुख कमर बाजवा (Pakistan Military Chief) पर कई गंभीर आरोप लगाए. उन्होंने इमरान खान सरकार को सेना की कठपुतली सरकार भी कहा. नवाज शरीफ के इन बयानों के बाद पाकिस्तान की राजनीति गर्मा गई है. नवाज की टिप्पणी का पलटवार करते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि नवाज शरीफ पूर्व राष्ट्रपति जनरल जिया उल हक के जूते पॉलिश करके राजनीति में आए हैं.

फिलहाल नवाज शरीफ भ्रष्टाचार के आरोप झेल रहे हैं

पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) पार्टी के नेता नवाज शरीफ को भ्रष्टाचार के आरोप में अदालत ने 2017 में सत्ता से बेदखल कर दिया था. 70 साल के शरीफ ने शुक्रवार को पहली बार सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा और आईएसआई प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल फैज हमीद का नाम लेते हुए उन पर निशाना साधा था. पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ़ ने लंदन से वीडियो लिंक के माध्यम से गुजरांवाला में पीडीएम की एक रैली को संबोधित करते हुए सेना प्रमुख जनरल क़मर बाजवा और आईएसआई प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल फैज़ हमीद पर कई आरोप लगाए. नवाज शरीफ़ ने इन दोनों पर चुनाव में धांधली करने, उनकी सरकार को हटाने, मीडिया का मज़ाक उड़ाने, न्यायपालिका पर दबाव बनाने और विपक्षी राजनेताओं को निशाना बनाने जैसे कई आरोप लगाए गए.

सेना प्रमुख के हस्तक्षेप से इमरान सत्ता में आए: नवाजनवाज शरीफ ने कहा था कि सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा और आईएसआई प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल फैज हमीद ने 2018 के चुनाव में हस्तक्षेप कर इमरान खान को जीत दिलाई थी. इस टिप्पणी पर पलटवार करते हुए इमरान खान ने कहा कि पीएमएल-एन अध्यक्ष नवाज शरीफ ‘जनरल जिया के जूते साफ कर के’ सत्ता में आए थे. बता दें कि नवाज शरीफ 1980 के दशक में तब सियासत में आए थे जब जनरल जिया उल हक ने देश में मार्शल लॉ लगाया था.

सेना के लिए टिप्पणी करने वाला गीदड़ दुम दबाकर भाग गया: इमरान

इमरान खान ने कहा कि नवाज शरीफ ने सेना के खिलाफ अपमानजनक शब्दों का प्रयोग उस समय किया है, जब वह देश के लिए अपनी जान की कुर्बानी दे रहे हैं. पीएम खान ने कहा कि सैनिक अपनी जान क्यों कुर्बान कर रहे हैं? हमारे लिए, देश के लिए और यह गीदड़ जो अपनी दुम दबाकर भाग गया था उसने सेना प्रमुख और आईएसआई प्रमुख के लिए ऐसी भाषा का प्रयोग किया है.

ये भी पढ़ें: अजरबैजान और आर्मेनिया संघर्ष विराम के लिए तैयार, एक सप्ताह पहले भी हुआ था समझौता 

सबसे खराब कैंडिडेट बाइडेन से हारने के बाद तो मुझे देश ही छोड़ना पड़ेगा: ट्रंप

इमरान खान ने आरोप लगाया कि शरीफ ने 1980 के दशक के अंत में मीरन बैंक से पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) की नेता बेनजीर भुट्टो के खिलाफ चुनाव लड़ने के लिए करोड़ों रुपये लिए थे. इमरान खान ने कहा कि यह वही शख्स (नवाज शरीफ) है जिसने दो बार (पीपीपी के सह-अध्यक्ष आसिफ अली) जरदारी को जेल में डाला. यह जरदारी ही थे, जो उनके (नवाज शरीफ) खिलाफ हुदैबिया पेपर मिल्स केस लेकर आए थे, न कि जनरल बाजवा.





Source link

This site is using SEO Baclinks plugin created by Locco.Ro

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *