चीन राष्ट्रीय हितों के लिए नुकसानदेह समझी जाने वाली विदेशी कंपनियों की सूची तैयार करेगा, सरकार ने इससे संबंधित नियम जारी किए


  • Hindi News
  • Business
  • Will Put together A Checklist Of Overseas Firms Deemed To Be Dangerous To Nationwide Pursuits The Authorities Issued Guidelines Associated To This

नई दिल्लीएक दि पहले

पिछले साल अमेरिका में की वस्तुओं पर अतिरिक्त शुल्क लगने और हुआवेई टेक्नोलॉजी पर रोक लगाए जाने के बाद ने सूची तैयार करने की बात कही थी, अभी तक हालांकि यह सूची बनी नहीं है

  • एपल, सिस्को सिस्टम्स और क्वालकॉम जैसी अमेरिकी कंपनियों को निशाना बना सकता है चीन
  • चीन के सरकारी पत्र ग्लोबल टाइम्स ने बोइंग कंपनी के विमानों की खरीदारी रोके जाने की बात भी कही थी

चीन के वाणिज्य मंत्रालय ने शनिवार को संदिग्ध संस्थानों की अपनी प्रस्तावित सूची से संबंधित नियमाी जारी कर दी। मंत्रालय ने कहा कि इस सूची में उन विदेशी कंपनियों और व्यक्तियों के नाम होंगे, जो चीन की संप्रभुता और सुरक्षा के लिए खतरा होंगे। पिछले साल अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन द्वारा चीन की वस्तुओं पर अतिरिक्त शुल्क लगाने और हुआवेई टेक्नोलॉजीज कंपनी पर रोक लगाए जाने के बाद चीन ने कहा था कि चीन के हितों के लिए खतरा ी जाने वाली विदेशी कंपनियों को दंडित करने के लिए एक सूची तैयार करेगा। चीन ने अभी तक हालांकि सूची प्रकाशित नहीं की है।

अमेरिका में रविवार रात से वीचैट और टिकटॉप पर लगेगा प्रतिबंध

अमेरिका ने शुक्रवार को कहा कि वह रविवार रात से वीचैट और वीडियो शेयरिंग ऐप टिकटॉक पर प्रतिबंध लगा देगा। इसके बाद अमेरिका में लोग चीनी नागरिकों के इन प्लेटफॉर्म्स को डाउनलोड नहीं कर पाएंगे। अमेरिका ने कहा है कि ये ऐप अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा हैं।

चीन की कंपनियों के समझौतों को बाधित करने वाली विदेशी कंपनियों व व्यक्तियों को सूची में डाला जाएगा

चीन के वाणिज्य मंत्रालय ने कहा कि सूची में उन विदेशी कंपनियों और व्यक्तियों के नाम डाले जाएंगे, जो चीन में नॉर्मल मार्केट ट्रांजेक्शन का उल्लंघन करेंगे, चीन की कंपनियों के साथ होने वाले समझौते को बाधित करेंगे या चीन की कंपनियों के साथ पक्षपात करेंगे। मई में चीन के सरकारी टेब्लॉयड ग्लोबल टाइम्स ने एक रिपोर्ट में कहा था कि इस सूची में एपल, सिस्को सिस्टम्स और क्वालकॉम जैसी अमेरिकी कंपनियों को निशाना बनाया जाएगा और बोइंग कंपनी के विमानों की खरीदारी रोकी जाएगी।

चीन ने कहा कि सूची से राष्ट्रीय संप्रभुता, सुरक्षा और विकास के हितों की रक्षा करने में मदद मिलेगी

मंत्रालय ने कहा कि इस सूची से राष्ट्रीय संप्रभुता, सुरक्षा और विकास के हितों की रक्षा करने में मदद मिलेगी। े एक वाजिब और मुक्त अंतरराष्ट्रीय आर्थिक व व्यापारिक व्यवस्था बनाए रखने में सहयोग मिलेगा। साथ ही े चीन की कंपनियों, अन्य संस्थानों और व्यक्तियों के हितों और वाजिब अधिकारों की सुरक्षा होगी।

विदेशी कंपनी अपने व्यवहार में सुधार करेगी, तो उसका नाम सूची से हटाया जा सकता है

मंत्रालय ने कहा कि सूची से संबंधित कार्यों के लिए एक प्रक्रिया तय की जाएगी और एक कार्यालय स्थापित किया जाएगा। चीन संदिग्ध के रूप में सूचीबद्ध विदेशी कंपनियों पर चीन के साथ आयात व निर्यात करने और चीन में निवेश करने पर रोक लगाएगा। सूचीबद्ध विदेशी कंपनियां यदि अपने व्यवहार में सुधार लाएगी और अपने कार्यों के परिणाम को खत्म करने के लिए कदम उठाएगी, तो उनके नाम को सूची से हटाया जा सकता है।

जिन देशों की सरकारें भारतीय कंपनियों से खरीदारी नहीं करतीं, वहां की कंपनियों से भारत सरकार भी खरीदारी नहीं करेगी

0



Source link

This site is using SEO Baclinks plugin created by Locco.Ro

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *