पंजाब, गुजरात के लोग सबसे खुशनुमा, खराब स्कोर करने वालों में मप्र-छ्त्तीसगढ़ समेत 10 राज्य; कुंवारों की तुलना में शादीशुदा ज्यादा खुश


  • Hindi News
  • Local
  • Delhi ncr
  • Folks Of Punjab, Gujarat Are Happier, Happier And Affected person Than Married, Happiest, Sort And Affected person Folks Are Happiest And Affluent.

नई दिल्लीThree घंटे पहले

स्टडी के ुताबिक देश के लोग भविष्य को लेकर आशावादी हैं और अगले 5 साल ें ौजूदा स्थिति की तुलना ें खुद को ज्यादा खुश और संपन्न देख रहे हैं। -फाइल फोटो

  • स्टडी में 16,950 लोगों ने हिस्सा लिया, नतीजे बताते हैं कि वैवाहिक स्थिति, आयु वर्ग, शिक्षा और कमाई का सकारात्मक रूप से खुशी से सीधा संबंध
  • हार्वर्ड बिजनेस स्कूल के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. एश्ले विलियन्स बताते हैं कि जो लोग पैसे की जगह समय को ज्यादा महत्व देते हैं, वे अधिक खुश रहते हैं

देश की पहली हैप्पीनेस इंडेक्स के मुताबिक मिजोरम, पंजाब और अंडमान-निकोबार तीन े खुशनुमा राज्य हैं। बड़े राज्यों में पंजाब, गुजरात और तेलंगाना अव् हैं और छोटे राज्यों में मिजोरम, सिक्किम और अरुणाचल शीर्ष पर हैं। खराब स्कोर े वाले 10 राज्य जम्मू-कश्मीर, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, नगालैंड, राजस्थान, गोवा, मेघालय, ओडिशा, उत्तराखंड, छत्तीसगढ़ हैं। इन राज्यों की क्रमशः रैंकिंग 27 से 36 है।

यह स्टडी आईआईएम और आईआईटी में प्रोफेसर रहे राजेश पिलानिया के नेतृत्व में मार्च 2020 से जुलाई 2020 के बीच की गई है। इसमें देशभर के 16,950 लोगों ने हिस्सा लिया। इस स्टडी के परिणाम बताते हैं कि वैवाहिक स्थिति, आयु वर्ग, शिक्षा और कमाई का सकारात्मक रूप से खुशी से सीधा संबंध है।

शादीशुदा ज्यादा खुश

अविवाहित लोगों की तुलना में शादीशुदा लोग ज्यादा खुश होते हैं। इस स्टडी में यह भी देखा गया कि कोरोना का लोगों की खुशी पर क्या प्रभाव पड़ा? हार्वर्ड बिजनेस स्कूल के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. एश्ले विलियन्स बताते हैं कि जो लोग पैसे की जगह समय को ज्यादा महत्व देते हैं, वे अधिक खुश रहते हैं। महाराष्ट्र, दिल्ली और हरियाणा के लोगों की खुशियों पर कोरोना ने सबसे ज्यादा असर डाला है।

पुड्डुचेरी और जम्मू-कश्मीर के लोगों पर कोई असर देखने को नहीं मिला। वहीं मणिपुर, अंडमान और निकोबार द्वीप और लक्षद्वीप में लोग इस दौर में आशावादी बने रहे। स्टडी के निष्कर्ष में स्टेनफोर्ड की नामी इंस्टीट्यूट की साइंस डायरेक्टर डॉ. इम्मा सेप्पाला बताती हैं कि दयालु और धैर्यवान लोग सबसे खुशहाल और संपन्न होते हैं।

स्टडी के मुताबिक देश के लोग भविष्य को लेकर आशावादी हैं और अगले 5 साल में मौजूदा स्थिति की तुलना में खुद को ज्यादा खुश और संपन्न देख रहे हैं। भविष्य की हैप्पीनेस रैंकिंग में मणिपुर, अंडमान-निकोबार द्वीप और गुजरात सबसे खुशनुमा राज्य हैं। बड़े राज्यों में गुजरात, उत्तराखंड और आंध्र शीर्ष पर हैं।

इन 5 पैरामीटर के आधार पर बना हैप्पीनेस इंडेक्स

1. काम संबंधी मुद्दे जैसे आय और ग्रोथ

2. परिवारिक संबंध और दोस्ती

3. शारीरिक और मानसिक सेहत

4. सामाजिक मुद्दे और परोपकार

5. धर्म या आध्यात्मिक जुड़ाव।

0



Source link

This site is using SEO Baclinks plugin created by Locco.Ro

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *