बीएमसी का बिहार के आईपीएस को क्वारंटीन मुक्त करने से इनकार, बिहार पुलिस ने जताई आपत्ति


पटना : मुंबई नगर िगम ()े अभिेता ुशांत िंह राजपूत () ी मौत ी जांच े मुंबई पहुंचे बिहार े आईपीएस विनय तिवारी ्वारंटीन से मु्त करने ा आग्रह खारिज कर दिया है. बीएमसी ा कहना है ि प्रदेश में फैले ोरोना सं्रमण ो देखते हुए बाहर से आए िसी भी व्यक्ति ो खुले में घूमने ी अनुमति नहीं दी जा सकती. इससे मुंबई में ोरोना सं्रमण बेाबू हो सकता है. बीएमसी े इस फैसले से बिहार और महाराष्ट्र सरकार े बीच कड़वाहट और बढ़ने ी आशंा जताई जा रही है.

बीएमसी के फैसले की कड़वाहट बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय के बयानों में दिखाई दी. डीजीपी ने कहा कि विनय तिवारी अब हमारे टच में नहीं है. हमें शंका है कि मुम्बई में टेस्ट कराकर विनय तिवारी को कोरोना पॉजिटिव घोषित कर दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि मुम्बई पुलिस का रवैया बहुत ही अनप्रोफेशनल है. ये ठीक नहीं. हमें मामले की जांच नहीं करने दी गई. हमारी टीम वहां सिर्फ तीन दिन ही काम कर पाई. 

हमारी टीम के बाकी चार अफसर वहां पर छुपे हुए हैं. हम उन्हें वापस बुला रहे हैं. लेकिन मुंबई पुलिस उन्हें क्वारंटीन करने के लिए दबिश डाल रही है. मुंबई पुलिस को हमारे अधिकारियों को वापस आने देना चाहिए. उन्होंने कहा कि हमने देश को दिखा दिया कि दाल में कुछ काला है.

इस मसले पर सुप्रीम कोर्ट में हुई सुनवाई पर डीजीपी ने कहा कि हमको इस मामले में कुछ नहीं कहना है. कोर्ट की ओर से जो आदेश दिया जाएगा, उसका पालन करेंगे. बता दें कि पटना के IG ने BMC के चीफ़ को पत्र लिखकर अपने एसपी सिटी विनय तिवारी को क्वारंटीन से मुक्त करने का अनुरोध किया था. लेकिन BMC ने उनका अनुरोध ठुकराते हुए जवाबी पत्र भेज दिया. जिसमें लिखा है कि कोविड- 19 प्रोटोकॉल के तहत एसपी विनय तिवारी 14 दिनों तक क्वारंटीन रहेंगे. 

LIVW TV





Source link

This site is using SEO Baclinks plugin created by Locco.Ro

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *