Truth Examine : Did the goat arrested for not carrying a masks in UP earlier than Bakrid? Kanpur police itself revealed the reality | क्या बकरीद से पहले यूपी में मास्क न पहनने पर बकरे को गिरफ्तार किया गया था? खुद कानपुर पुलिस ने बताई वायरल वीडियो की सच्चाई


7 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

देश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 16 लाख के पार पहुंच गई है। चूंकि अब तक इस जानलेवा वायरस की कोई वैक्सीन या कारगर दवा नहीं बनी है। इसलिए सोशल डिस्टेंसिंग और चेहरे पर मास्क लगाना ही इससे बचने का एकमात्र उपाय है।

संक्रमण बढ़ने के बाद सोशल मीडिया पर कई ऐसी तस्वीरें आईं, जिनमें इंसान तो इंसान जानवर भी मास्क लगाए दिखे। पिछले एक सप्ताह से सोशल मीडिया पर जानवरों के मास्क पहनने की अनिवार्यता से जुड़ा ही एक दावा किया जा रहा है।

क्या वायरल : एक वीडियो है, इसमें पुलिस बकरे को अपने वाहन में बैठाकर ले जाती दिख रही है। दावा किया जा रहा है कि बकरे ने मास्क नहीं पहना था, इसलिए कानपुर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। वीडियो शेयर करते हुए यूजर इंसानों को खुद मास्क पहनने के साथ अपने जानवरों को भी मास्क पहनाने की हिदायत दे रहे हैं।

  • पांच माह के कोरोना काल में इंसानों के मास्क न पहनने पर चालन कटने की तो कई खबरें आईं। लेकिन, चूंकि अब तक किसी भी प्रदेश की पुलिस ने जानवर के मास्क न पहनने पर कोई चालान या गिरफ्तारी नहीं की है। इसलिए हमारी फैक्ट चेक टीम ने दावे की सत्यता जांचने के लिए पड़ताल शुरू की। 1 अगस्त शनिवार को देश भर में बकरीद मनाई गई। ईद से एक सप्ताह पहले से ही सोशल मीडिया पर बकरे की गिरफ्तारी का दावा किया जा रहा था।

वायरल वीडियो

वीडियो देखने के बाद यूजर बकरे की गिरफ्तारी से जुड़े ट्वीट कर रहे हैं

न्यूज एजेंसी IANS ने भी बकरे की मास्क न पहनने के चलते गिरफ्तारी वाली खबर ट्वीट की

फैक्ट चेक पड़ताल

  • अलग-अलग कीवर्ड से सर्च करने पर भी हमें किसी विश्वसनीय न्यूज प्लेटफॉर्म पर ऐसी खबर नहीं मिली। जिससे ये पुष्टि होती हो कि बकरे की गिरफ्तारी मास्क न पहनने की वजह से हुई है। इसके बाद हमने कानपुर पुलिस द्वारा पिछले एक सप्ताह में जारी किए गए अपडेट्स चेक किए।
  • कानपुर पुलिस ट्विटर पर एक्टिव रहती है। हर छोटा-बड़ा अपडेट ट्वीट करती है। कानपुर पुलिस 27 जुलाई को ही इस वीडियो को लेकर स्पष्टीकरण दे चुकी है।
  • एक ट्वीट के जवाब में कानपुर पुलिस ने लिखा – प्रकरण में प्र0निZero बेकनगंज द्वारा बताया गया है कि लॉकडाउन में बकरा लावारिस घूम रहा था। जिसको थाने लाया गया। बकरा मालिक मोZero अली पुत्र खनीकुज्जमा निZero दादामियां का चौराहा। थाना बेकनगंज कानपुर नगर के आने पर उन्हे नियमानुसार बकरे को सुपुर्द कर दिया गया। शेष आरोप असत्य व निराधार हैं।
  • स्पष्ट है कि कानपुर पुलिस ने बकरे को इसलिए पकड़ा था, क्योंकि वो लावारिस घूम रहा था। जैसे ही बकरा मालिक थाने पहुंचा, उसे बकरा सौंप दिया गया। यहां मास्क वाला एंगल लोगों ने अपने मन से जोड़कर सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया।

निष्कर्ष : यूपी में मास्क न पहनने पर बकरे की गिरफ्तारी वाली खबर फेक है।

0





Supply hyperlink

This site is using SEO Baclinks plugin created by Locco.Ro

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *