2025 तक 40 नए न्यूक्लियर रिएक्टर बनाने की तैयारी में चीन, सता रहा US का डर


बनाएगा हर साल Eight न्यूक्लियर रिएक्टर

साल 2020 से 2025 के बीच हर साल चीन (China) 6 से Eight नए न्यूक्लियर रिएक्टर (Nuclear Reactor) बनाएगा. चीन ने सगले पांच साल में 40 नए न्यूक्लियर रिएक्टर बनाने का लक्ष्य रखा है.

बीजिंग. चीन (China) ने घोषणा की है कि साल 2020 से 2025 के बीच हर साल वह 6 से Eight नए न्यूक्लियर रिएक्टर (Nuclear Reactor)  बनाएगा. चीन ने सगले पांच साल में 40 नए न्यूक्लियर रिएक्टर बनाने का लक्ष्य रखा है. चीन का कहना है कि इन रिएक्टरों के जरिए 70 गीगावाट बिजली पैदा की जाएगी जो देश की 43.5% बिजली की जरूरत को पूरा करने में सक्षम होगी. हालांकि जानकारों के मुताबिक चीन के साथ बढ़ती टेंशन को लेकर चिंतित है और उसके परमाणु हाथियों के जखीरे से घबराया हुआ है ऐसे में इन रिएक्टरों के जरिए उसके कई दूसरे प्लान भी हो सकते हैं.

चीन के सरकारी अख़बार चाइना डेली में छपी खबर के मुताबिक चीन परमाणु ऊर्जा के जरिए बिजली पैदा करने का मेगा-प्लान तैयार कर लिया है. चीन की न्यूक्लियर एनर्जी एसोसिएशन ने गुरूवार को कहा कि 2020 के अंत तक देश में 52 गीगावाट बिजली परमाणु रिएक्टरों से पैदा होने का लक्ष्य रखा गया था जो कि पूरा होता नज़र नहीं आ रहा है. 2025 तक 40 नए रिएक्टर बनाए जाएंगे जो कि 70 गीगावाटबिजली पैदा करने में सक्षम होंगे. 2035 तक 200 गीगावाट बिजली पैदा करने का लक्ष्य रखा गया है जो चीन की लगभग सभी जरूरतों के लिए काफी होगा. बता दें कि चीन का न्यूक्लियर एनर्जी प्रोग्राम साल 2011 में जापान के फुकुशिमा में हुए हादसे के चलते four साल पीछे हो गया था. साल 2019 में चीन ने 6 नए रिएक्टर शुरू कर दिए हैं और अब से हर साल Eight नए रिएक्टर बनाने का लक्ष्य रखा गया है.

 

US के हथियारों से चिंतित
जानकारों की माने तो चीन और अमेरिका के बीच बढ़ते विवाद को देखते हुए बीजिंग काफी परेशान नज़र आ रहा है. चीन को डर खासकर अमेरिका के 6185 न्यूक्लियर हथियारों से है जिसके मुकाबले चीन के पास सिर्फ 290 मौजूद है. ग्लोबल टाइम्स में भी इस अंतर को लेकर चिंता जाहिर की गई है. हालांकि रूस ने चीन को हर हालत में साथ देने का वादा किया है और इससे चीन को थोड़ी राहत मिली है क्योंकि रूस के पास अमेरिका से भी ज्यादा 6500 मौजूद हैं.

 

ब्रिटेन के पास 200, फ्रांस के पास 300, भारत के पास 140, पकिस्तान के पास 160, इजराइल के पास 90 और नॉर्थ कोरिया के पास 30 परमाणु बम मौजूद हैं. चीन अमेरिका की में बढ़ती मौजूदगी से काफी परेशान है और लगातार उसे धमकी भी दे रहा है.

ये भी पढें:-

क्या है चीन की ‘सलामी स्लाइसिंग’ रणनीति, जिससे सभी कर रहे हैं होशियार

क्या है सदगुरु का ‘भैरव’, जो कोरोना के खिलाफ जंग में 5 करोड़ में बिका

चीन अगले कुछ सालों में परमाणु हथियारों पर करीब 500 बिलियन डॉलर खर्च करने की योजना बना रहा है. आने वाले 10 सालों में चीन 1.2 ट्रिलियन डॉलर का खर्च करेगा और परमाणु हथियारों के जखीरे को पूरी तरह अपग्रेड कर लेगा.

! operate(f, b, e, v, n, t, s) { if (f.fbq) return; n = f.fbq = operate() { n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments) }; if (!f._fbq) f._fbq = n; n.push = n; n.loaded = !0; n.model = ‘2.0’; n.queue = []; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e)[0]; s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, doc, ‘script’, ‘https://join.fb.web/en_US/fbevents.js’); fbq(‘init’, ‘482038382136514’); fbq(‘observe’, ‘PageView’);



Supply hyperlink

This site is using SEO Baclinks plugin created by Locco.Ro

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *